भारत दिनभर समाचार

एनवीडिया के शेयरों में भारी गिरावट से $500 बिलियन का मार्केट वैल्यू नष्ट

एनवीडिया के शेयरों में भारी गिरावट से $500 बिलियन का मार्केट वैल्यू नष्ट

एनवीडिया के शेयरों में भारी गिरावट: क्या हैं इसके कारण?

एनवीडिया, ग्राफिक्स और एआई प्रोसेसिंग यूनिट्स की प्रमुख निर्माता कंपनी ने हाल ही में बाजार में एक बड़ा झटका खाया है। कंपनी ने अपने दूसरे तिमाही 2024 के राजस्व पूर्वानुमान को घटाकर $3.5 बिलियन से $3.7 बिलियन के बीच दर्शाया है, जो कि पहले की उम्मीद $5.5 बिलियन से काफी कम है। इस खबर ने एनवीडिया के शेयर मूल्य में तीव्र गिरावट लाई और लगभग $500 बिलियन का बाजार मूल्य नष्ट हो गया।

ग्राफिक्स कार्ड और डेटा सेंटर चिप्स की मांग में गिरावट

एनवीडिया के इस गिरावट का एक मुख्य कारण ग्राफिक्स कार्ड और डेटा सेंटर चिप्स की मांग में उल्लेखनीय कमी है। गेमिंग इंडस्ट्री और डेटा सेंटर, जो एनवीडिया के प्रमुख राजस्व स्रोत रहे हैं, इसमें हाल के समय में कमी देखने को मिली है। इससे कंपनी के राजस्व पर बड़ी चोट पड़ी है और इसका सीधा असर शेयर बाजार पर पड़ा।

वैश्विक आर्थिक अनिश्चितता और सप्लाई चेन में रुकावट

इसके अलावा, वैश्विक आर्थिक अनिश्चितता और सप्लाई चेन में लगातार आ रही रुकावटों ने भी एनवीडिया को प्रभावित किया है। महामारी के बाद से ही सप्लाई चेन में बहुत सी समस्याएँ बनी हुई हैं, जिससे इलेक्ट्रॉनिक्स इंडस्ट्री विशेष रूप से प्रभावित हुई है। यह रुकावटें न केवल उत्पादन में देरी करती हैं, बल्कि लागत को भी बढ़ाती हैं, जिससे कंपनी के लाभ पर असर पड़ता है।

सीईओ का मानना: चुनौतीपूर्ण समय में भी दृढ़ता के साथ

एनवीडिया के सीईओ, जेन्सन हुआंग, ने इन चुनौतियों को स्वीकार करते हुए कहा कि कंपनी इस मुश्किल समय का सामना अपनी दीर्घकालिक विकास रणनीतियों पर ध्यान केंद्रित करते हुए करेगी। उन्होंने कहा कि एनवीडिया की तकनीकी विकास में स्थिरता और नवाचार पर जोर इसे इस संकट से बाहर निकालेगा और इसका भविष्य उज्ज्वल रहेगा।

भविष्य की राह: एआई और क्लाउड कंप्यूटिंग

इसके बावजूद, एनवीडिया का भविष्य प्रबल दिखता है, खासकर एआई और क्लाउड कंप्यूटिंग के क्षेत्र में इसके नवाचारों को देखते हुए। एआई प्रोसेसिंग और क्लाउड कंप्यूटिंग तकनीकों में एनवीडिया का योगदान तकनीकी जगत में अभी भी महत्वपूर्ण माना जाता है और यह इसके लॉन्ग-टर्म ग्रोथ के लिए एक मजबूत आधार प्रदान करता है।

यह देखना दिलचस्प होगा कि एनवीडिया आगे चलकर अपने राजस्व को बढ़ाने और नए अवसरों को पकड़ने के लिए किन नई रणनीतियों को अपनाएगी। कंपनी का इतिहास उसकी नवाचारी दृष्टिकोण और मार्केट में अग्रणी स्थिति के साथ है, जो यह दर्शाता है कि यह कंपनी इस चुनौतीपूर्ण समय में भी तरक्की कर सकती है।

संबंधित पोस्ट

सीडीएसएल के शेयर 13% ऊपर, रिकॉर्ड स्तर पर पहुँचे, बोर्ड की बोनस इश्यू पर विचार करने की योजना

सेंट्रल डिपॉजिटरी सर्विसेज (इंडिया) लिमिटेड (सीडीएसएल) के शेयर 13% की बढ़त के साथ नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) पर रिकॉर्ड उच्चतम स्तर पर पहुँचे। कंपनी ने घोषित किया कि उसका बोर्ड 2 जुलाई, 2024 को बोनस इश्यू पर विचार करेगा। शेयर पिछले उच्चतम स्तर को पार कर गए हैं, जिसमें सीडीएसएल का व्यापार 12% बढ़कर 2,248.60 रुपये पर पहुँच गया है।

और पढ़ें

एनवीडिया के शेयरों में भारी गिरावट से $500 बिलियन का मार्केट वैल्यू नष्ट

एनवीडिया, जो ग्राफिक्स और एआई प्रोसेसिंग यूनिट्स की प्रमुख निर्माता है, ने अपने बाजार मूल्य में लगभग 500 बिलियन डॉलर की गिरावट का सामना किया है। इस गिरावट का मुख्य कारण कंपनी के दूसरे तिमाही 2024 के लिए राजस्व पूर्वानुमान में कमी थी। इस खबर से एनवीडिया के शेयर प्राइस में तीव्र गिरावट आई, जिससे इसका बाजार पूंजीकरण नष्ट हो गया।

और पढ़ें

एक टिप्पणी करना